X Close
X

 ट्विंकल नामक कुतिया की हत्या करने पर मुकद्दमा दर्ज , जाने कौन है ट्विंकल..


Agra:

आगरा – कुत्ते  को मारने से पहले कई बार सोंचे क्योकि हो सकता है आपके खिलाफ मुकद्द्द्मा दर्ज | अगर ऐसा हुआ तो हो सकती है 5 साल की सजा | ऐसा ही एक मामला थाना जगदीश पूरा आगरा के अंतर्गत का है |नगला बेर जगदीशपुरा  में एक ट्विंकल नाम की कुतिया रहती थी जिसको वहीं के निवासी लडकों ने बेहरमी से मौत के घाट उतार दिया | ट्विंकल  की हत्या की खबर सुनकर समाजसेवी करतार सिंह निगम ने अपराधियों को सजा दिलाने की ठानी और लम्बी भागदौड़ कर हत्यारों के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज करा दिया |

हम बात कर रहे हैं आगरा थाना जगदीश पुरा क्षेत्र के नगला बेर ट्विंकल नाम की कुतिया ( BITCH ) का मुकदमा लिखवाने के लिए कई दिन थाने के चक्कर काटने के बाद लिखा गया घटना बुधवार 27/11/19 सुबह की 8:00 बजे की है तब क्षेत्र के कुछ असामाजिक तत्व लड़कों ने जो कि टाइगर उमेश सीपू दीपक छोटू अन्य लगभग 8 से 10 लोगों द्वारा पालतू कुतिया को बोरी में भरकर पागल खाने की पीछे जंगल में ले जाकर ट्विंकल नामक कुतिया की हत्या कर दी, हत्या के समय उसकी दोनों आंखें फोड़ दी उसके गुप्तांग में दंडी डाल दी बताया जाता है कि उसके पेट में बच्चे थे जब इसकी जानकारी गरीब सेवा संस्थान संस्थापक श्री करतार सिंह निगम एवं सुनील कुमार चौधरी को हुई तो मौके पर गरीब सेवा संस्थान की टीम ने जाकर देखा कि उसकी मौत हो चुकी थी|  इसकी जानकारी पुलिस कंट्रोल रूम मौके पर आई पुलिस ने आरोपियों के लिए एफ आई आर के आदेश दे दिए थे यह मुकद्दमा भारतीय दंड संख्या 1860 के अंतर्गत धारा 429 में लिखा गया लेकिन मुकदमा लिखने में जगदीशपुरा पुलिस टालमटोल करती रही जब इसकी जानकारी गरीब सेवा संस्थापक करतार सिंह निगम द्वारा माननीय श्रीमती मेनका गांधी जी दी गई तब फोन द्वारा थाना जगदीश पुरा इंस्पेक्टर राजेश कुमार शर्मा जी से बात होने पर मुकदमा पंजीकृत किया गया।

क्या धारा 429

जो भी कोई किसी हाथी, ऊंट, घोड़े, खच्चर, भैंस, सांड़, गाय या बैल को, चाहे उसका कुछ भी मूल्य हो, या पचास रुपए या उससे अधिक मूल्य के किसी भी अन्य जीवजन्तु का वध करने, विष देने, विकलांग करने या निरुपयोगी बनाने द्वारा कुचेष्टा करेगा, तो उसे किसी एक अवधि के लिए कारावास, जिसे पांच वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है, या आर्थिक दण्ड, या दोनों से, दण्डित किया जाएगा।
लागू अपराध
किसी हाथी, ऊंट, घोड़े, आदि चाहे उसका कुछ भी मूल्य हो, या पचास रुपए या अधिक मूल्य के किसी भी अन्य जीवजन्तु का वध या विकलांग करने द्वारा कुचेष्टा।
सजा – पांच वर्ष कारावास, या आर्थिक दण्ड, या दोनों। यह अपराध जमानती, संज्ञेय है तथा प्रथम श्रेणी के न्यायधीश द्वारा विचारणीय है।

यह अपराध ढोर / जानवर के स्वामी द्वारा समझौता करने योग्य है।

 

The post  ट्विंकल नामक कुतिया की हत्या करने पर मुकद्दमा दर्ज , जाने कौन है ट्विंकल.. appeared first on Welcome to Nayesamikaran.