X Close
X

महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्रदेश सरकार ने उठाए कड़े कदम


Agra:

महिलाओं एवं लड़कियों के साथ छेड़-छाड़ होने वाले अपराधों पर सख्ती से अंकुश लगाये जाने हेतु त्वरित एवं प्रभावी कार्यवाही करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देश पर प्रदेश में पहली बार एण्टी रोमियो स्क्वायड का गठन हर ज़िले में किया गया है। इसके अन्तर्गत 22 मार्च 2017 से 26 मई 2019 तक सार्वजनिक स्थलों, स्कूलों, बाजारों, माल्स तथा बस-अड्डों आदि की निगरानी करते हुए 58,40,744 व्यक्तियों को चेक कर अवांछनीय गतिविधियों में लिप्त व्यक्तियों के विरूद्ध 3594 अभियोग पंजीकृत करते हुए 13,798 के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही तथा 23,89,430 को चेतावनी दी गयी। इससे महिलाओं एवं बालिकाओं के अन्दर अभूतपूर्व आत्मविश्वास की वृद्धि हुयी है।
प्रदेश के प्रत्येक जनपद में एक-एक महिला थाने की स्थापना की गयी है। सरकार द्वारा लखनऊ, गोरखपुर और बदायूं में तीन महिला बटालियन स्थापित किये जाने का भी निर्णय लिया गया है। महिलाओं/ बालिकाओं के साथ टेलीफोन द्वारा छेड़खानी, विभिन्न प्रकार के उत्पीड़न तथा छोटे-छोटे अपराधों को बिना थाने गये शैशव स्तर पर रोकने के उद्देश्य से स्थापित वूमेन पावर लाइन-1090 में वर्ष 2018 में कुल प्राप्त 2,66,005 शिकायतों में से 98.80 प्रतिशत शिकायतों का समाधान कराकर राहत पहुंचायी गयी है।
प्रदेश सरकार ने महिला सम्मान प्रकोष्ठ के माध्यम से मार्शल आर्ट चैम्पियन सुश्री अर्पणा राजावत सुविख्यात ट्रेनर की सेवाएं प्राप्त  कर विभिन्न जनपदों में कुल 4355 स्कूली छात्राओं को आत्मरक्षा हेतु प्रशिक्षण दिलाया गया है। पावर एजेण्ट योजना के अन्तर्गत पावर एंजिल, पावर हीरो तथा पावर गार्जियन, 03 श्रेणियों में समाज के उन वर्गों को जोड़ा गया है जिनसे महिला सशक्तीकरण की दिशा में महत्वपूर्ण प्रयास किया गया है। प्रदेश में अब तक 8000 पावर एजेण्ट भी बनाये जा चुके हैं।
प्रदेश सरकार ने महिलाओं/बच्चों के मुद्दां (बाल संरक्षण एवं मानव तस्करी, नारी सुरक्षा) पर विभिन्न सरकारी विभागों व संस्थाओं महिला कल्याण, स्वास्थ्य, श्रम, अभियोजन विभाग चाइल्ड लाइन व बाल कल्याण समिति इत्यादि के साथ समन्वय व सामंजस्य स्थापित हेतु विशेष किशोर पुलिस ईकाई व एण्टी ह्यूमन टै्रफिकिंग यूनिट्स की मासिक समीक्षा बैठकों  का सिस्टम विकसित किया है।
महिलाओं व बच्चों की सुरक्षा हेतु महिला सम्मान प्रकोष्ठ द्वारा प्रदेश व्यापी 03 आपरेशन मुस्कान, आपरेशन आत्मरक्षा एवं आपरेशन डेस्ट्राय चलाये गये। आपरेशन मुस्कान के अन्तर्गत दिनांक 18 जून 2018 से 18 अगस्त 2018 तक कुल 2119 से अधिक बच्चे बरामद कर 429 बच्चे बाल कल्याण समिति को सुपुर्द एवं अन्य बच्चे अपने माता-पिता को सुपुर्द किये जा चुके है जिनमे 1157 बालक ब 962 बालिकाएं है ।
आपरेशन आत्मरक्षा माह जून 2018 से 06 माह के लिए उ0प्र0 के समस्त जनपदों में चलाया जा रहा है । जिसके अन्तर्गत माह जून में लगभग 573308 स्कूल/कालेज जाने वाली छात्राओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण कराया जा चुका है। महिलाओ एवं लडकियों की सुरक्षा को सुदृढ करने हेतु भारत सरकार की सहायता से सेफ सिटी प्रोजेक्ट के अन्तर्गत लखनऊ में रू. 195.55 करोड़ की परियोजना की स्वीकृति प्रदान की गयी है। सेफ सिटी प्लान के अन्तर्गत लखनऊ में महिलाओ की सुरक्षा हेतु लखनऊ पुलिस, वूमेन पावर लाइन-1090 तथा अन्य एजेन्सियों द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं को और उपयोगी एवं सशक्त बनाया जा रहा है।
महिलाओं एवं लड़कियों को सुरक्षा को सुदृढ करने हेतु भारत सरकार द्वारा निर्भया फण्ड की स्थापना की गयी, जिसमें देश के 08 शहरों को चिन्हित किया गया है। इस फण्ड के अन्तर्गत लखनऊ को भी चुना गया है। निर्भया फण्ड के अन्तर्गत लखनऊ को सेफ सिटी प्लान के अन्तर्गत महिलाओ की सुरक्षा हेतु लखनऊ पुलिस, वूमेन पावर लाइन-1090 तथा अन्य एजेन्सियों द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओ को और उपयोगी एवं सशक्त बनाया जा रहा है।

The post महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्रदेश सरकार ने उठाए कड़े कदम appeared first on Welcome to Nayesamikaran.